Astrology Learning

Mithun-Rashi


( का, की, कू, घ, ड, छ, के, को, हा )

मिथुन राशि – ज्योतिष विषय में रूचि, गणितज्ञ, वाक्-पटु, नीतिज्ञ, इतिहास-प्रेमी, मधुर भाषी, नम्र, बुद्धिमान तथा स्मरण-शक्ति तीव्र रहती है. दाम्पत्य जीवन कलहपूर्ण रहता है. सट्टा, लौटरी एवं शयेर्स से धन लाभ होता है.

जिस जातक के जीवन पर इस राशि की प्रधानता होती है, वह प्रबल कर्मठ एवं साहसी होता है. दिन-रात परिश्रम करते रहना इसका स्वभाव बन जाता है और जब ततक अपने ध्येय तक नहीं पहुचता, आराम करना नहीं चाहता. परिश्रम इनके जीवन का एक अंग बन जाता हैइनके दिमाग की यह एक खूबी है की ये एक साथ कई विषयों पर सोच सकते हैं, तथा उन पर गंभीरता से योजनाएं बना सकते हैं. एक से अधिक कलाओं में ये निष्णात होते हैं तथा जिस क्षेत्र को भी ये अपनाते है, उनमें पूर्ण सफलता प्राप्त कर लेते हैं.

परन्तु साथ ही एक बात और भी है, वह यह की ये प्रत्येक कार्य को उत्साह और जोश से प्रारंभ करते हैं. परन्तु धीरे-धीरे इनका यह जोश शिथिल पद्त्ता जाता है और अंत ततक पहुचते-पहुचते तो एसा लगता है मानो ये उस कार्य को नही कर रहे है, अपितु उसे घसीट रहे हैं.

ऐसे लोगों का बचपन बड़ा अस्त-व्यस्त रहता है, यधपि ये शिक्षा प्राप्त कर लेते है, परन्तु शिक्षा भी सुनियोजित या सुव्यवस्थित ढंग से नहीं हो पाती. शिक्षा के लिए बहुत अधिक भटकना पड़ता है और स्टार के हिसाब से शिक्षा में इन्हें सभी प्रकार के स्टार प्राप्त होते है.

मिथुन तत्व प्रधान जातक लिखने-पढने के शौक़ीन होते है. ये अधिक लिखते और बहुत अधिक पढ़ते हैं. पढने की यह भूख इनमे बाल्यावस्था से ही पाई जाती है, प्रत्येक प्रकार का विषय पढने में रूचि रखते हैं तथा जो भी पढ़ते है, उसका जीवन में उपयोग करते हैं.

परन्तु ऐसे व्यक्ति भावुक भी होते है, यधपि ये जान-बूझ कर लोगों के झांसे में नहीं आटे, परन्तु भावुक्त्ता के स्थल पर इन्हें ठगा जा सकता है. गिरते है, परन्तु बहुत शीघ्र संभल जाते हैं. वाल्यावस्था कष्टकर होती है.

बचपन में माता-पिता का सुख स्वल्प ही मिलता है. अपने जीवन को आप ही निर्मित करते है, उसमें माता-पिता का योगदान नहीं बराबर होता है. कठिन से कठिन परिस्थितियों में भी अविचलित बने रहना, संकटों का द्रढतापूर्वक सामना कारण एवं विपत्तियों के बिच से मार्ग निकल लेना इनके व्यक्तित्व की विशेषता होती है. जीवन में इन्हें बहुत अधिक उतर-चढाव देखने पड़ते हैं, जिसके कारण साहसी और कर्मठ हो जाते है.

इनका व्यक्तित्व सम्मोहक होता है. ऊँचे, तगड़े, और स्वस्थता इनके व्यक्तित्व की विशेषता होती है. कार्य करने में चपलता और त्वरित इनके स्वभाव का अंग बन जाती है. सर्वाधिक विशेषता होती है इनकी वाणी में-फलस्वरूप सामने वाले अनजान से अनजान व्यक्ति को भी ये बांतो के माध्यम से प्रभावित कर लेते हैं और उससे अपना काम निकलवा लेते हैं. उठा हुआ मस्तिष्क, छोटी-छोटी स्वल्प्वित और पैनी आँखे, चेहरे पर दाद या चोट का हल्का-सा-निशान, ठीक अनुपात में उठी हुई ठोड़ी और गहरे श्याम रंग के केश इनके व्यक्तित्व की विशेषता कही जा सकती हैं.